सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

बुधवार, 12 अगस्त 2009

200 वी पोस्ट :- गूगल अर्थ का देसी संस्करण 'भुवन',


गूगल अर्थ के सहारे इंटरनेट पर अपना शहर, मोहल्ला और घर खोजना छोड़िए। अब गूगल अर्थ का देसी संस्करण 'भुवन' आ गया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो की मानें तो भुवन वेब पोर्टल गूगल के मुकाबले न केवल ताजा तस्वीरें उपलब्ध कराता है, बल्कि रोजमर्रा की जिंदगी और सामाजिक उपयोग से जुड़ी कई जानकारियां भी मुहैया कराता है।

भुवन के सहारे आप दो शहरों के बीच की हवाई दूरी नाप सकते हैं। साथ ही मिंट्टी, बंजर भूमि और जल संसाधन संबंधी इसरो के आंकड़ों तक भी भुवन के माध्यम से पहुंचा जा सकता है।

वेब पोर्टल लांच करते हुए केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री पृथ्वीराज चह्वाण ने कहा कि आम आदमी तक सूचना पहुंचाने की दिशा में भुवन महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। साथ ही, उन्होंने कहा कि सूखे के हालात के मद्देनजर इस तरह की सुविधा लोगों तक सही तस्वीर पेश करने में भी मदद करेगी।

महज नौ महीने में भुवन को विकसित करने वाली इसरो की टीम के मुखिया वी. जयरामन का कहना था कि मुंबई जैसे आतंकी हमलों की सूरत में भी यह पोर्टल बहुत कारगर हो सकता है। इसके सहारे सुरक्षा बल किसी भी इलाके की भौगोलिक स्थिति से जुड़े आंकड़े हासिल कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बल और सरकारी एजेंसियां सुरक्षित पासवर्ड के जरिये वे जानकारियां भी हासिल कर सकते हैं जिन तक सामान्य लोगों की पहुंच नहीं होगी। हालांकि जयरामन गूगल अर्थ से भुवन की तुलना के खिलाफ हैं। उनका कहना है कि गूगल के मुकाबले भुवन न केवल अपेक्षाकृत नवीनतम आंकड़े मुहैया कराता है, बल्कि पूरे भारत में 55 मीटर की ऊंचाई और 5.8 मीटर के रिजोल्यूशन की तस्वीरें उपलब्ध कराता है। इतना ही नहीं, भुवन अनेक तरह की द्वि-आयामी और त्रि-आयामी तस्वीरें मुहैया कराता है।

भुवन की विशेषताएं यहीं खत्म नहीं होतीं। शहरीकरण पर काम करने वाले विशेषज्ञ भुवन पर शहरी अभिकल्पना उपकरण के सहारे सड़क, चौराहे और यहां तक कि ट्रैफिक लाइट का त्रि-आयामी प्रतिबिंब देख सकते हैं। इस वेब पोर्टल पर किन्हीं दो बिंदुओं के बीच हवाई, क्षैतिज और ऊध्र्वाधर दूरी को मापने की भी सुविधा मौजूद होगी।

1 टिप्पणी:

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter