सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

गुरुवार, 22 अक्तूबर 2009

नेताजी की मौत से जुड़ा हर रिकार्ड उजागर हो - केंद्रीय सूचना आयोग [सीआईसी]



केंद्रीय सूचना आयोग [सीआईसी] ने कहा है कि सुभाष चंद्र बोस की मौत से जुड़ा हर रिकार्ड सार्वजनिक किया जाना चाहिए। सीआईसी ने गृह मंत्रालय को निर्देश दिया है कि वह 1945 में नेताजी के अचानक लापता होने के मामले की जांच करने वाले जस्टिस मुखर्जी आयोग के सभी दस्तावेज सार्वजनिक करे, चाहे वे किसी भी मंत्रालय और राज्य सरकार से संबंधित हों।

सीआईसी ने इससे पहले भी गृह मंत्रालय को इस मामले में मुखर्जी आयोग द्वारा सूचीबद्ध प्रमाण उजागर करने को कहा था। लेकिन, आयोग ने अन्य राज्यों से जुड़े रिकार्डो पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। आयोग ने अब अपने फैसले में कहा है, 'गृह मंत्रालय 20 कार्य दिवसों के अंदर आवेदनकर्ता को हर जानकारी मुहैया कराए।' सूचना के अधिकार के तहत चंद्रचूड़ घोष ने यह जानकारी मांगी थी। अर्जी दायर करने के करीब 34 महीने बाद आयोग का यह फैसला आया है।

इससे पहले पिछले महीने सीआईसी के समक्ष गृह मंत्रालय का पक्ष रखते हुए संयुक्त सचिव लोकेश झा ने कहा था कि मंत्रालय को इस मामले में अपने दस्तावेज जारी करने में कोई हर्ज नहीं है लेकिन अन्य मंत्रालय व कुछ राज्य सरकारों से जुड़े दस्तावेज जारी करने में गृह मंत्रालय असमर्थ है। गौरतलब है कि नेताजी की गुमशुदगी से जुड़े मामले की जाच के लिए 1999 में एक सदस्यीय मुखर्जी आयोग का गठन किया गया था। आयोग की जांच रिपोर्ट अभी तक सार्वजनिक नहीं की गई है।

6 टिप्‍पणियां:

  1. सी आई सी की मांग सही है .. जानकारी के लिए आपका धन्‍यवाद !!

    उत्तर देंहटाएं
  2. सी आई सी की मांग सही है ... पर कांग्रेस सरकार इसको पूरा करेगी इसकी आशा कम ही है ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. लेकिन उस से अब क्या लाभ, कितना कुछ बदल गया होगा उस रिपोर्ट मै, अजी छोडो इन झुठे नेताओ को... यह सिर्फ़ गढे मुर्दे ऊखाडने का काम करते है... ओर आग लगा कर फ़िर चुप बेठ जाते है... देखे कब निकलती है यह रिपोर्ट???? कुछ नही होने वाला

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत बढ़िया लगा आपका ये पोस्ट! अच्छी जानकारी प्राप्त हुई! धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  5. haan! record to ujaagar hona chahiye.... par ab kya faayada........

    bahut hi achchi post lagi yeh.........

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter