सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

बुधवार, 18 मई 2011

शादी कार्ड में राष्ट्रीय चिन्ह, फंस सकते हैं विजेंद्र

भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंद्र सिंह अपने विवाह के निमंत्रण पत्र को लेकर मुश्किलों में फंस सकते हैं। उनके निमंत्रण पत्र पर राष्ट्रीय चिन्ह दर्शाया गया है और यह कानून के तहत एक तरह का अपराध है।
मंगलवार 17 मई को दिल्ली में हुई विजेंद्र की शादी में कांग्रेस के महासचिव राहुल गांधी, भारतीय ओलंपिक संघ के उपाध्यक्ष अभय सिंह चौटाला, केंद्रीय मंत्री सैलजा, सांसद राजीव शुक्ला के अलावा खेल जगत की कई हस्तियां मौजूद थी। विजेंद्र ने कल ही चार साल के प्रेम संबंध के बाद अर्चना से दिल्ली में शादी रचाई है।
राष्ट्रीय चिन्ह के इस्तेमाल को लेकर स्टेट एंबलम एक्ट 2005 बनाया गया है। कोई भी निजी व्यक्ति इसका इस्तेमाल नहीं कर सकता, क्योंकि किसी कागज पर इसका होना यह दर्शाता है कि व्यक्ति केंद्र सरकार से ताल्लुक रखता है या फिर जिस दस्तावेज पर यह दर्शाया गया है, वह केंद्र सरकार का है। अगर इस तरह का कोई मामला सामने आता है तो वह केंद्र के समक्ष भेजा जाएगा और सरकार का फैसला अंतिम होगा। इसका इस्तेमाल या तो सरकारी मोहर में हो सकता है या फिर संवैधानिक व्यक्ति इसका प्रयोग कर सकते हैं। अगर कोई व्यक्ति इसका इस्तेमाल निजी तौर पर करता है और वह एक्ट के उल्लंघन का दोषी पाया जाता है तो उसके लिए सजा का भी प्रावधान है।
अधिनियम की धारा 3 के तहत अधिकतम दो साल की कैद या पांच हजार रुपये जुर्माना या फिर सजा व जुर्माना एक साथ भी किए जा सकते हैं। कोई व्यक्ति दूसरी बार इस तरह की गलती करता है तो उसे फिर से छह माह से लेकर दो साल तक की कैद भुगतनी होगी।

7 टिप्‍पणियां:

  1. आपने बिल्कुल सही बात पर गौर किया है! आख़िर शादी के कार्ड पर राष्ट्रिय चिन्ह देने की कोई आवश्यकता नहीं थी! देखते हैं विजेन्द्रजी मुश्किल में पड़ते हैं या नहीं!

    उत्तर देंहटाएं
  2. मुझे नहीं लगता है जिसके बाराती राहुल गाँधी बने उन्हें इस मामले में कोई मुश्किल होगी किन्तु विजेंद्र ने क्या सोच कर और क्यों इस चिन्ह को अपने कार्ड पर प्रकाशित किया |

    उत्तर देंहटाएं
  3. विजेन्द्रजी क्यो खाम्खा मे पंगा लिया, लेकिन डरे नही आप के संग रक्षक आप के संग हे, ओर वोटो के लालच मे ही सही, यह कोई मोका नही खोने देना चाहेगे, यार अगले साल वोटे नही चाहिये क्या?

    उत्तर देंहटाएं
  4. टिप्पणी देकर प्रोत्साहित करने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया!

    उत्तर देंहटाएं
  5. राहुल भैया साथ दे ... किसकी हिम्मत होगी केस करने की ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. बिल्कुल सही बात पर गौर किया है आपने

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter