सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

मंगलवार, 26 नवंबर 2013

एक लौ इस तरह क्यूँ बुझी ... मेरे मौला

५ साल पहले आज ही के दिन मुंबई घायल हुई थी ... वो घाव आज भी पूरी तरह नहीं भरे है ... 



 
केवल सैनिक ही नहीं ... हर एक इंसान जिस ने उस दिन ... 'शैतान' का सामना किया था ... नमन उन सब को !
 
============

जाते जाते एक वीडियो आप सब की नज़र है ...

============

जय हिन्द !! 

7 टिप्‍पणियां:

  1. इस हादसे से उबरने की ,मुम्बई में की गयी कोशिश के जज़बे को सलाम !

    उत्तर देंहटाएं
  2. 26/11 में शहीद हुए अमर शहीदों को शत शत नमन।। ऐसी घटना दुनिया में फिर कभी ना हो !!

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter