सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

शनिवार, 26 नवंबर 2011

२६/११ की तीसरी बरसी - बस इतना याद रहे ... एक साथी और भी था ...


२६/११ के सभी अमर शहीदों को सभी मैनपुरी वासीयों की ओर से शत शत नमन !

4 टिप्‍पणियां:

  1. कौन साथी.. वो हमला बाहरी आतंकवादियों से था.. देश तो अंदरूनी आतंकवादियों से लड़ रहा है.. और वो जो बाहरी था शाही मेहमान बना बैठा है!!
    मौन श्रद्धांजलि!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. शत-शत नमन.बहुत ही भावपूर्ण गीत मन को भिगो गया.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter