सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

बुधवार, 29 दिसंबर 2010

अभी नहीं मिलेगी अनचाही कॉलों से राहत!

नए साल में अनचाही कॉलों से निजात मिलने की आस लगाए बैठे मोबाइल ग्राहकों को निराशा हो सकती है। माना जा रहा है कि फिलहाल टेलीकॉम ऑपरेटर इसके लिए तैयार नहीं हैं। वजह यह है कि टेलीमार्केटिंग कॉलों को रोकने के लिए जिस जरूरी ढांचे की जरूरत है, उसे तैयार करने में कंपनियों को और समय लगेगा।
सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए इसके लिए उन्होंने सरकार से चार महीने का समय भी मांगा है। हालांकि अब नई तारीख एक फरवरी उभरकर आ रही है। दूरसंचार नियामक ट्राई द्वारा इस तरह की कॉलों को बंद करने की समयसीमा पहली जनवरी 2011 तय की गई है।
ट्राई ने एक दिसंबर, 2010 को अनचाही टेलीमार्केटिंग कॉलों और एसएमएस पर दिशानिर्देश जारी किए थे। इन दिशानिर्देशों को अगले साल की शुरुआत से लागू किया जाना था। एसोसिएशन ऑफ यूनिफाइड सर्विस प्रोवाइडर्स ऑफ इंडिया [ऑस्पी] के महासचिव एससी. खन्ना ने कहा कि इस बात की संभावना कम ही है कि ऑपरेटर एक जनवरी की समयसीमा को पूरा कर पाएंगे। उन्हें ऐसी कॉलों को नियंत्रित करने को लेकर ढांचा खड़ा करने के लिए और समय की जरूरत है। इससे पहले ट्राई के दिशानिर्देशों में कहा गया था कि नियमों का उल्लंघन करने पर कंपनियों पर 2.50 लाख रुपये का भारी जुर्माना लगाया जाएगा। जिस भी कंपनी के खिलाफ लगातार शिकायतें मिलेंगी, उन्हें ब्लॉक कर दिया जाएगा। टेलीमार्केटिंग कंपनियों को '70' से शुरू होने वाला अलग फोन नंबर दिया जाएगा। ऐसे में ग्राहक उनकी पहचान कर सकेंगे और उनके पास विकल्प होगा कि वे चाहें तो टेलीमार्केटिंग कंपनियों की कॉल न उठाएं।
ट्राई ने टेलीमार्केटिंग कॉलों के लिए सात श्रेणियों की पहचान की है। इनमें बैंकिंग और वित्तीय उत्पाद, रीयल एस्टेट, शिक्षा, स्वास्थ्य, उपभोक्ता सामान और वाहन, संचार एवं मनोरंजन व पर्यटन और मौजमस्ती के लिए पर्यटन शामिल हैं।

4 टिप्‍पणियां:

  1. सीधा साधा कानून बना दो भाई जो ऎसी काल करे, उस की शिकायत करने वाले को वो कम्प्नी कम से कम दस हजार रुपये का जुर्माना अदा करे, ओर मोबाईल पर ऎसी काल करने पर २० हजार जुर्माना देना होगा, फ़िर देखो कोन माई का लाल करता हे ऎसी काल, पुरे युरोप मे ऎसा ही कानून हे.
    आप भी जुडे ओर साथियो को भी जोडे...
    http://blogparivaar.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढ़िया आवश्यक लेख लिखा है शिवम् भाई !
    राज भाटिया ने सही सलाह दी है , मगर लागू कैसे हो ??
    शुभकामनायें नए साल की ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. साल के आख़िर में भी बुरी ख़बर सुना दी आपने... वैसे भाटिया साहब की सलाह का कोई फ़ायदा भी नहीं.. देश में कानूनों की कमी नहीं, आवश्यकता है क़ानून को लागू करने की, कड़ाई से!! जिस दिन वो हो गया, सब ठीक हो जाएगा, चार महीनों में नहीं, चार मिनट में!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. छोडिये कानून को मेरी मानिये जब कोई लोन के लिए फोन आये तो कहिये की हा जी लोन चाहिए सास का मर्डर करने के लिए सुपारी देनी है मिलेगा क्या , गाड़ी चाहिए जी क्रेडिट कार्ड भी चाहिए बस जेल से निकने दीजिये सब लूँगा | बस ऐसी ही दो चार को जवाब गिजिये आप को काल आने बंद हो जायेंगे | :)))

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter