सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

सोमवार, 30 जून 2014

पीएसएलवी सी-23 का सफल प्रक्षेपण

पीएसएलवी सी-23 के प्रक्षेपण के लिए शनिवार को शुरू हुई 49 घंटे की उलटी गिनती सोमवार सुबह 9:52 बजे पूरी होते ही पीएसएलवी सी-23 अपने साथ पांच उपग्रहों को लेकर अंतरिक्ष की ओर रवाना हो गया | इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वहां मौजूद थे।

गौरतलब है कि पहले इसका प्रक्षेपण समय 8: 49 बजे निर्घारित था, लेकिन तकनीकी कारणों से इसे तीन मिनट आगे किया गया है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन [इसरो] के बयान में कहा गया है कि प्रक्षेपण यान फ्रांसीसी उपग्रह स्पॉट-7 के साथ 4 अन्य उपग्रह अंतरिक्ष में ले जाएगा। फ्रांस के पृथ्वी निगरानी उपग्रह के साथ कनाडा, जर्मनी और सिंगापुर के उपग्रह इसमें शामिल हैं।

अब तक दूसरे देशों के 35 उपग्रह प्रक्षेपित कर चुका पीएसएलवी सी-23 अपने साथ 714 किलो वजन का फ्रांसीसी पृथ्वी निगरानी उपग्रह स्पॉट-7, 14 किलो का जर्मनी का आईसैट, 15-15 किलो का कनाडा का एनएलएस 7.1 (कैन एक्स 4) एवं एनएलएस 7.2 (कैन एक्स-5) और सिंगापुर का 7 किलो का वेलोक्स-1 अंतरिक्ष में स्थापित करेगा।

इस पोस्ट के लगने तक पांचों उपग्रह अपनी अपनी कक्षा मे सफलतापूर्वक स्थापित किए जा चुके थे |

एक समय था जब इसरो के अंदर एक जगह से दूसरी जगह अंतरिक्ष यान के कलपुर्ज़े साइकल से पहुंचाए जाते थे ... एक आज का दिन है जब हम दूसरे देशों के उपग्रह अंतरिक्ष मे स्थापित कर रहे है |


इस महान कामयाबी पर मैं अपनी ओर से इसरो के सभी वैज्ञानिकों और साथी देश वासियों को हार्दिक मुबारकबाद देता हूँ |

2 टिप्‍पणियां:

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter