सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

बुधवार, 15 अगस्त 2012

१५ अगस्त १९४७ -- १५ अगस्त २०१२



                                   

वन्दे मातरम्
सुजलां सुफलां मलयजशीतलाम्
शस्यशामलां मातरम् ।
शुभ्रज्योत्स्नापुलकितयामिनीं
फुल्लकुसुमितद्रुमदलशोभिनीं
सुहासिनीं सुमधुर भाषिणीं
सुखदां वरदां मातरम् ।। १ ।। वन्दे मातरम् ।
कोटि-कोटि-कण्ठ-कल-कल-निनाद-कराले
कोटि-कोटि-भुजैर्धृत-खरकरवाले,
अबला केन मा एत बले ।
बहुबलधारिणीं नमामि तारिणीं
रिपुदलवारिणीं मातरम् ।। २ ।। वन्दे मातरम् ।
तुमि विद्या, तुमि धर्म
तुमि हृदि, तुमि मर्म
त्वं हि प्राणा: शरीरे
बाहुते तुमि मा शक्ति,
हृदये तुमि मा भक्ति,
तोमारई प्रतिमा गडि
मन्दिरे-मन्दिरे मातरम् ।। ३ ।। वन्दे मातरम् ।
त्वं हि दुर्गा दशप्रहरणधारिणी
कमला कमलदलविहारिणी
वाणी विद्यादायिनी, नमामि त्वाम्
नमामि कमलां अमलां अतुलां
सुजलां सुफलां मातरम् ।। ४ ।। वन्दे मातरम् ।
श्यामलां सरलां सुस्मितां भूषितां
धरणीं भरणीं मातरम् ।। ५ ।। वन्दे मातरम् ।
 
 
आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
 
जय हिंद !!
 

11 टिप्‍पणियां:


  1. स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ!


    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. वे क़त्ल होकर कर गये देश को आजाद,
    अब कर्म आपका अपने देश को बचाइए!

    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाए,,,,
    RECENT POST...: शहीदों की याद में,,

    उत्तर देंहटाएं
  3. देशप्रेम से भरी सुन्दर सार्थक प्रस्तुति ..
    आपको भी स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाए!

    उत्तर देंहटाएं
  4. नमन है उन स्वतंत्रता सैनानियों को , उन आज़ादी के दीवानों को , उन शहीदों को जिन्होंने हमारे सुनहरे भविष्य के लिए अपना वर्तमान और सर्वस्व देश पर न्यौछावर कर दिया .
    जय हिंद .
    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाए!

    उत्तर देंहटाएं
  5. तोमारई प्रतिमा गडि
    मन्दिरे-मन्दिरे

    नमन..

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुन्दर पोस्ट आपकी भैया ,यौमे आज़ादी का परचम रोज़ फिराएं लोग लुगैया ...

    उत्तर देंहटाएं
  7. पूरी कविता पहली बार पढ़ी।

    उत्तर देंहटाएं
  8. आप ने लिखा... हमने पढ़ा... और भी पढ़ें... इस लिये आप की ये खूबसूरत रचना शुकरवार यानी 16-08-2013 की http://www.nayi-purani-halchal.blogspot.com पर लिंक की जा रही है... आप भी इस हलचल में शामिल होकर इस हलचल में शामिल रचनाओं पर भी अपनी टिप्पणी दें...
    और आप के अनुमोल सुझावों का स्वागत है...




    कुलदीप ठाकुर [मन का मंथन]

    उत्तर देंहटाएं


  9. ♥ वंदे मातरम् ! ♥
    ==–..__..-=-._.
    !!==–..__..-=-._;
    !!==–..@..-=-._;
    !!==–..__..-=-._;
    !!
    !!
    !!
    !!
    हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !
    -राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter