सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

शनिवार, 23 अक्तूबर 2010

कैसे हुआ मूवी का नामकरण :- आइये जाने !


फिल्मों के लिए एक प्रचलित शब्द है 'मूवी'। मूवी नाम कैसे पड़ा? यह जानना महत्वपूर्ण है। आप पूछेंगे क्यों? क्योंकि हमारे समाज में नामकरण का बड़ा महत्व है। और जब यह किसी आविष्कार या प्रचलित विधा का नामकरण हो, तो उसकी अहमियत और बढ़ जाती है।

माना यह जाता है कि काफी सोच-विचार कर ही वह नाम रखा गया होगा, लेकिन यकीन मानिए, हमेशा ऐसा नहीं होता। जैसे कि मूवी के नामकरण के बारे में हुआ। 1912 में न्यूयॉर्क से एक किताब प्रकाशित हुई थी, जिसका शीर्षक था 'मूवीज ऐंड द लॉ'। चलने-फिरने या मूव करने वाली तस्वीरों के कारण इसे मूवी कहा गया था। लोगों ने इसे सुना और यूं ही शुरू हो गया इस शब्द का चलन।

जबकि इस दौर में यूनानी नामों यानी क्लासिक नामों का ही प्रचलन था। दरअसल, इस समय कई महत्वपूर्ण आविष्कार हुए थे। सबके नाम यूनानी भाषा में ही थे। मसलन, कैमरा काइनेटोग्राफ, प्रोजेक्टर काइनेटोस्कोप आदि। इसी तरह, टेलीग्राफ, फोटोग्राफ, टेलीफोन, सीजमोग्राफ आदि शब्दों का जन्म हुआ, जो यूनानी मूल से बने हैं। लेकिन 'मूवी' शब्द के प्रचलन पर यूनानी प्रभाव नहीं पड़ सका।

हां, जब फिल्मों में आवाज शामिल कर ली गई, इसे कुछ दिनों तक 'टॉकीज' कहा जाने लगा। लेकिन जब आवाज हर फिल्म में इस्तेमाल की जाने लगी, तो फिर से मूवी शब्द चलन में आ गया। यानी बिना किसी मशक्कत के मूवी शब्द ने लोगों के जेहन में गहरी पैठ बना ली, जिसे निकालना बेहद मुश्किल था और शायद है भी। आपको क्या लगता है?

4 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छी और मजेदार जानकारी के लिए धन्यवाद |

    उत्तर देंहटाएं
  2. चलने-फिरने या मूव करने वाली तस्वीरों के कारण इसे मूवी कहा गया था
    मैने भी ऐसा ही अनुमान लगाया था!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छी जानकारी,
    भारत में बनी पहली मूवी शायद राजा हरिश्चन्द्र थी...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter