सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

शनिवार, 21 अगस्त 2010

एक माइक्रो पोस्ट :- एक दिमागी कसरत !!

ज़रा बताइए यह शख्स आखिर कर क्या रहा है ??
जवाब कल की पोस्ट में मिलेगा ........तब तक आप लोग अपने अपने दिमागी घोड़े भगाइए !! 
( चित्र के साथ कोई भी कलाकारी नहीं की गयी है )

16 टिप्‍पणियां:

  1. यह फूस छहा रहा है.... बस फूस थोडा modern है....

    उत्तर देंहटाएं
  2. मेरे ख्याल से ये आदमी ट्रक से गेहूं उतार रहा है!

    उत्तर देंहटाएं
  3. हम तो नहीं जान पाये जी, अब कल की पोस्ट का इंतजार रहेगा।
    क्या फोटो में कुछ कलाकारी भी की हुई है?

    ये उतार तो कुछ नहीं रहा, क्योंकि ये बैठा हुआ है।
    श्री महफूज जी की बात में कुछ दम दिख रहा है।

    प्रणाम स्वीकार करें

    उत्तर देंहटाएं
  4. शिवम् भाई कसरत दिमागी हो या शारीरिक आपने बस की कभी नहीं रही.......अपन तो बस कल की पोस्ट का इंतजार करेंगे.......

    उत्तर देंहटाएं
  5. पता त हम भी नहीं लगा पाते..लेकिन आज अख़बार में देख लिए थे इसीलिए बता सकते हैं कि ई लखनऊ में सेवई बनाने का दृश्य है..ठीक बोले ना??

    उत्तर देंहटाएं
  6. हमरा जवबवा रोक लीजिएगा...सब हो जाने के बाद देखाइएगा..नहीं तो लोग समझ जाएगा...

    उत्तर देंहटाएं
  7. महफुस जी ने सही कहा है... बस फूस थोड़ी computerised है !

    उत्तर देंहटाएं
  8. मुझे भी इसका जवाब नहीं पता लग रहा है इसलिए कल की पोस्ट का ही इन्तेज़ार रहेगा , वैसे बबली जी का उत्तर मुझे सही लग रहा है लेकिन आपको एक बात और बतानी चाहिए की क्या इस चित्र में कंप्यूटर effects का भी प्रयोग हुआ है ?

    उत्तर देंहटाएं
  9. बाजा बजा रहा है।
    गाना सुना रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. हमारे ख्याल से तो ये बन्दा खपरैल बाँधने में जुटा है.....बाकी राम जाने या आप :)

    उत्तर देंहटाएं
  11. बेचारा गरीब अपनी झोपडी की छत को कस के बांधने मै मदद कर रहा है जी अपने साथियो की

    उत्तर देंहटाएं
  12. बेचारा गरीब अपनी झोपडी की छत को कस के बांधने मै मदद कर रहा है जी अपने साथियो की

    उत्तर देंहटाएं
  13. महफूज जी की बात में कुछ दम दिख रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  14. चचा जी तो बताइए दिए जवाब :)

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter