सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

मंगलवार, 8 सितंबर 2009

84 वर्ष के हुए डा. भूपेन हजारिका

प्रख्यात गायक डा. भूपेन हजारिका आज (मंगलवार) अपना 84वां जन्मदिन मना रहे हैं लेकिन उनका कहना है कि उम्र बढ़ने के साथ वह खुद को और भी जवां महसूस करते हैं। असम भर में उनका जन्मदिन विशेष उत्साह से मनाया जा रहा है।
मुंबई के असम भवन में कैंसर पीडि़त मरीजों के साथ पारंपरिक असमिया भोजन कर अपना जन्मदिन मनाने की तैयारी कर रहे डा. हजारिका कहते हैं कि "मैं हमेशा सोचता हूं, मैं युवा हूं।"
"मैं खुद को सेवानिवृत्त महसूस नहीं करता क्योंकि संगीत से संन्यास लेने की कोई उम्र नहीं होती। मैंने अपने पूरे जीवन में अपने गीतों के माध्यम से बाहरी दुनिया के सामने असम और भारत की व्याख्या करने की कोशिश की है।"
दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित डा. हजारिका की पिछले महीने मुंबई में बाईपास सर्जरी हुई थी। वह सर्जरी के बाद अपने जन्मदिन के अवसर पर पहली बार लोगों के सामने आएंगे।
रुदाली, साज और गजगामिनी जैसी फिल्मों में भावपूर्ण संगीत दे चुके डा. हजारिका के पास अभी भी कुछ फिल्में हैं जिनका संगीत उन्हें तैयार करना है। इन फिल्मों में प्रसिद्ध फिल्मकार कल्पना लाजमी की दो फिल्में भी शामिल हैं। 
सभी मैनपुरी वासीयों की ओर से डा. हजारिका को जन्मदिन की बहुत बहुत शुभकामनाये | भगवान् उन्हें दीर्घजीवी बनाये |

3 टिप्‍पणियां:

  1. भूपेन हजारिका जी को जन्‍मदिन की बधाई .. भगवान् उन्हें दीर्घजीवी बनाये !!

    उत्तर देंहटाएं
  2. शिवम् जी,
    भूपेन हजारिका संगीत का ऐसा समंदर हैं, जिसमे बार-बार गोता लगा कर पवित्र गोने को जी चाहता है... ८४ वीं वर्षगाँठ पर शुभकामनाएं देकर आपने हमें भी जगाया है. 'जीवेम शरदः शतम्' की कामना करता हूँ उनके लिए...
    उनका यह कथन सत्य है कि उन्होंने सारी दुनिया में भारत की आत्मा के संगीत का गायन किया है...
    हम थके-दौड़ते लोगों को इसी तरह जागते रहें शिवम् भाई ! आभार !-- आ.

    उत्तर देंहटाएं
  3. मुझे भूपेन हजारिका जी के गाने बहुत पसंद है! जन्मदिन की बहुत बहुत बधाइयाँ उन्हें! आपने बहुत सुंदर लिखा है!

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter