सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

शनिवार, 15 अगस्त 2009

प्रधानमंत्री के राष्ट्र को संबोधन की मुख्य बातें


देश के 63वें स्वतंत्रता दिवस पर ऐतिहासिक लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के राष्ट्र को संबोधन की मुख्य बातें इस प्रकार हैं।

1. सूखे की स्थिति गंभीर लेकिन देश में पर्याप्त अन्न भंडार, कोई भूखा नहीं रहेगा।

2. जमाखोरों और कालाबाजारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई।

3. स्वाइन फ्लू से घबराने की जरूरत नहीं। दैनिक जीवन को बाधित न होने दें।

4. चार प्रतिशत कृषि वृद्धि दर हासिल करने के लिए देश को एक और हरित क्राति की जरूरत। पांच वर्ष में यह लक्ष्य होगा हासिल।

5. देश की विकास दर को नौ प्रतिशत तक ले जाना सबसे बड़ी चुनौती।

6. खाद्य सुरक्षा कानून के तहत हर बीपीएल परिवार को रियायती दर पर हर महीने अनाज।

7. गरीब छात्रों को कम दरों पर शिक्षा रिण।

8. प्रत्येक दिन 20 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण।

9. नरेगा में सुधार, पारदर्शिता और जवाबदेही लाई जाएगी।

10. देश को झुग्गी झोपड़ी मुक्त बनाने के लिए नई राजीव आवास योजना।

11. 14 नवंबर को जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय सूर्य ऊर्जा मिशन की शुरूआत।

12. आतंकवादी गतिविधियों को जड़ से खत्म करना और इसके लिए सुरक्षाबलों और खुफिया एजेंसियों को निरंतर उन्नत बनाना।

13. सांप्रदायिक हिंसा रोकने संबंधी विधेयक को संसद में जल्द पारित कराया जाएगा।

14. मादा भू्रणहत्या समाज के लिए शर्मनाक। इसे जितनी जल्दी संभव होगा, समाप्त किया जाएगा।

15. सरकार महिला आरक्षण विधेयक को जल्द पारित करने के लिए प्रतिबद्ध।

16. ग्रामीण और शहरी स्थानीय निकायों में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देने के विधेयक पर विचार।

17. अगले तीन साल में महिला निरक्षरता को 50 प्रतिशत कम करने के लिए राष्ट्रीय महिला साक्षरता मिशन की शुरूआत।

18. नागरिकों को अनूठा पहचान पत्र अगले एक डेढ़ वर्ष से मिलना शुरू।

19. अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को विकास प्रक्रिया में सक्रिय भागीदार बनाया जाएगा।

20. अल्पसंख्यकों के विकास को और गति दी जाएगी।

21. सूचना के अधिकार को और प्रभावकारी तथा पारदर्शी बनाने के लिए उसमें सुधार किया जाएगा।

22. रेलवे के समर्पित माल ढुलाई कॉरिडार का काम शुरू।

23. उग्रवादी गतिविधियों से निपटने के प्रयास और तेज होंगे।

24. क्षेत्रीय असंतुलन समाप्त करने के लिए पिछडे़ इलाकों पर विशेष ध्यान।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter