सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

शनिवार, 15 अगस्त 2009

फूटी दलाल स्ट्रीट की हांडी


कम बारिश की चिंता ने दलाल स्ट्रीट की पार्टी का मजा फिर किरकिरा कर दिया। भारी उठापटक के बीच फंडों की मुनाफावसूली के चलते बंबई शेयर बाजार [बीएसई] का सेंसेक्स शुक्रवार को 106.86 अंक नीचे आकर 15411.63 पर बंद हुआ। एक दिन पहले यह 498 अंक की लंबी छलांग लगाकर 15518.49 पर बंद हुआ था। इसी प्रकार नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 24.95 अंक उतरकर 4580.05 पर बंद हुआ। गुरुवार को यह 4605 अंक पर था।

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स बढ़त के साथ 15530.38 अंक पर खुला। यह ऊंचे में 15535.47 अंक तक चला गया। बाद में यह नीचे में 15367.61 अंक तक लुढ़का। सत्र के दौरान निफ्टी 4619 और 4559.35 अंक के दायरे में रहा।

कमजोर मानसून से कृषि उत्पादन पर असर पड़ेगा। बाजार में यह चिंता घर कर गई कि कम बारिश से ग्रामीण उपभोक्ता अपने खर्चों में कटौती पर मजबूर होंगे। साथ ही इससे आर्थिक वृद्धि दर का लक्ष्य हासिल करना भी मुश्किल हो सकता है। इसके मद्देनजर बाजार की धारणा कमजोर हो गई।

स्वाइन फ्लू फैलते जाने से भी दलाल स्ट्रीट पर नकारात्मक असर पड़ा। इसे देखते हुए आम निवेशकों और विदेशी फंडों ने मुनाफावसूली की। आयल एंड गैस और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स कंपनियों के शेयरों में तेजी ने सेंसेक्स को बड़ी गिरावट से बचाया।

वहीं एफएमसीजी, रीयल एस्टेट, आईटी और आटो कंपनियों के शेयरों में बिकवाली ने बाजार को नीचे लुढ़काया। मिडकैप सूचकांक में मामूली गिरावट और स्मालकैप में हल्की बढ़त दर्ज हुई। सेंसेक्स की 30 कंपनियों में केवल 5 के शेयर ही ऊपर चढ़ पाए, बाकी 25 गिरावट के साथ बंद हुए।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter