सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

मंगलवार, 28 जुलाई 2009

अब सचमुच मुस्कुराएगी पिंकी..!!


आस्कर पुरस्कार प्राप्त डाक्यूमेंट्री 'स्माइल पिंकी' में मुख्य किरदार निभाने वाली आठ वर्षीय पिंकी सोनकर को फिर मुस्कुराने का मौका मिला है। पिंकी को गोद लेकर पढ़ाने का जिम्मा उठाने वाले लखनऊ पब्लिक स्कूल प्रबंधन ने मंगलवार को पिंकी का दाखिला करवाया।

स्कूल प्रबंधन ने पिंकी का दाखिला हरदोई जिले के माधोगंज स्थित शाखा में करवाया है। पिंकी को कक्षा दो में प्रवेश दिया गया है। स्कूल प्रबंधन के अधिकारी पिंकी और उसके पिता राजेंद्र सोनकर को लेकर सोमवार शाम हरदोई पहुंचे। स्कूल 12वीं तक पिंकी की पढ़ाई और रहने खाने का पूरा इंतजाम करेगा।

स्कूल के निदेशक डा. सुशील कुमार ने बताया कि पिछले दिनों जब हमें पता चला कि आस्कर पुरस्कार प्राप्त डाक्यूमेंट्री में काम करने वाली पिंकी स्कूल न जाकर मिर्जापुर जिले स्थित अपने गांव में लोगों के घरों में बर्तन साफ कर रही है तो हमें बहुत दुख हुआ। उसके बाद स्कूल प्रबंधन ने उसे पढ़ाने का फैसला किया।

कुमार ने कहा कि हमने पिंकी के पिता से कहा कि हम उसे गोद लेकर पढ़ाना चाहते हैं, तो वह तैयार हो गए। खुशी से उनकी आंखों में आंसू छलक आए थे। उन्होंने कहा कि पिंकी का कहना है कि वह भविष्य में गरीबों की सेवा करने के लिये डाक्टर बनना चाहती है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी निर्देशक मेगन माइलन की 39 मिनट की डाक्यूमेंट्री 'स्माइल पिंकी' को वर्ष 2008 में आस्कर पुरस्कार से नवाजा गया था।

2 टिप्‍पणियां:

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter