सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

गुरुवार, 9 जुलाई 2009

आशंकाओं ने दलाल स्ट्रीट का दम निकाला


दलाल स्ट्रीट में निवेशकों की अर्थव्यवस्था को लेकर आशंकाएं सरकारी आश्वासनों पर भारी पड़ीं। इसके चलते बुधवार को सेंसेक्स भारी बिकवाली के दबाव में आकर औंधे मुंह गिरा। ग्लोबल बाजारों की कमजोरी व विदेशी संस्थागत निवेशकों [एफआईआई] द्वारा बड़े पैमाने पर पूंजी निकासी ने भी बीएसई के इस संवेदी सूचकांक को नीचे धकेल दिया। यह इस दिन 401.30 अंक यानी 2.83 फीसदी लुढ़ककर 13769.15 पर बंद हुआ। यह सेंसेक्स का 6 हफ्तों का निचला स्तर है। एक दिन पहले यह बढ़त के साथ 14170.45 अंक पर बंद हुआ था।

इसी प्रकार नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 123.25 अंक यानी 2.93 फीसदी का गोता लगाकर 4078.90 पर बंद हुआ। मंगलवार को यह 4202.15 अंक पर था। योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने एक दिन पहले कहा था कि सरकार को विनिवेश कार्यक्रम के लिए रूपरेखा तैयार करने में और वक्त लगेगा। हालांकि उन्होंने जोर देकर कहा कि आर्थिक वृद्धि, ढांचागत सुधार और सार्वजनिक-निजी भागीदारी [पीपीपी] के लिए बजट में स्पष्ट उपाय किए गए हैं।

मंगलवार को वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने भी उद्योग जगत को आर्थिक सुधारों व अर्थव्यवस्था की सेहत के प्रति आश्वस्त किया था। दलाल स्ट्रीट पर बिकवाली का दबाव इतना जबरदस्त रहा कि विनिवेश के लिए शीघ्र ही रूपरेखा तैयार करने का संकेत व एशियाई बाजारों में शुरुआती सुधार भी निवेशकों का मनोबल बढ़ाने में विफल रहे। यह अलग बात है कि बाद में एशियाई बाजार गिरावट के साथ बंद हुए। यूरोपीय शेयर बाजार भी नुकसान पर रहे। विश्लेषकों का कहना है कि घरेलू बाजार अब ग्लोबल रुख पर कदमताल कर रहा है। चूंकि दुनिया भर के निवेशक विश्व अर्थव्यवस्था के मंदी से उबरने को लेकर आशंकित बने हुए हैं। इसलिए सभी अंतरराष्ट्रीय बाजार दबाव में हैं।

दलाल स्ट्रीट में विदेशी संस्थागत निवेशक [एफआईआई] बिकवाल बने हुए हैं। उन्होंने अपनी पूंजी निकालने के लिए 7 जुलाई को 921 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे हैं। कारोबार के दौरान रीयल एस्टेट, कैपिटल गुड्स, मेटल व बैंकिंग कंपनियों के शेयर बिकवाली के दबाव में रहे।

बीएसई के रीयल एस्टेट सूचकांक में 8.47, कैपिटल गुड्स में 5.05, मेटल में 4.22 और बैंकेक्स में 4.09 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। मिडकैप व स्मालकैप सूचकांकों में भी क्रमश: 3.66 व 3.73 फीसदी की गिरावट आई। सेंसेक्स में शामिल 30 कंपनियों के शेयरों में केवल 6 ही बढ़त बना पाए, बाकी सभी घाटे में बंद हुए। इस दिन बीएसई में कुल कारोबार 5400.03 करोड़ रुपये रहा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter