सदस्य

नयी पोस्ट की जानकारी लें ईमेल से

 

रविवार, 5 जुलाई 2009

अधिवक्ताओं का आक्रोश सड़कों पर

अघोषित विद्युत कटौती और मनमाने शेडयूल के विरोध में अधिवक्ताओं का आक्रोश सड़कों पर फूट पड़ा। दीवानी स्थित मैनपुरी बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने मोटरसाइकिल रैली निकालकर जिला प्रशासन व प्रदेश सरकार के विरुद्ध जहां जमकर नारेबाजी की। वहीं कलक्ट्रेट स्थित जिला बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने कलक्ट्रेट पर धरना प्रदर्शन कर अपनी पुरानी मांग को एक बार फिर दुहराया।

जिला बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने अपनी पुरानी मांग को दुहराते हुए कहा कि अपर जिलाधिकारी शेषनाथ के कार्यालय में अधिशासी अभियन्ता से वार्ता के बाद तय किया गया शेडयूल अगर लागू नहीं किया जाता है तो अधिवक्ता कठोर कदम उठाने को मजबूर होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अपर जिलाधिकारी ने मामले को जिलाधिकारी के प्रतिनिधि के रूप में निपटाया था परंतु विद्युत अभियन्ता अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है।

वहीं मैनपुरी बार एसोसिएशन की पहले दीवानी स्थित अधिवक्ताओं के केन्द्रीय कक्ष में बैठक हुई जिसमें प्रमुख मार्गो पर रैली निकालने का निर्णय लिया गया। बैठक के बाद अधिवक्ता अपनी अपनी मोटरसाइकिलों से सड़कों पर उतर पड़े। दीवानी के अधिवक्ताओं का प्रभावी रोड शो कचहरी रोड से सन्ता बसन्ता चौराहे से सदर बाजार, लेनगंज होकर कचहरी रोड से कलक्ट्रेट पहुंचा। जहां प्रभावी तरीके से नारेबाजी कर विद्युत कटौती बंद करने तथा नए सिरे से शेडयूल बनाने की मांग की। मोटरसाइकिल रैली में भारी संख्या में युवा अधिवक्ता अपने जोश और खरोश से सड़कों पर प्रदर्शन करते नजर आए।

फ़िर भी एक बात जो गले नहीं उतरती वोह यह की अब भी नगर की बाकी जनता काफ़ी हद तक खामोश बैठी है अगर वोह भी अधिवक्ताओं का साथ दे तो इस आन्दोलन में और भी ज्यादा जोश और जान आजाये |

1 टिप्पणी:

  1. चलो अधिवक्ताओं ने एक काम तो ऐसा किया जिस से जनता का भला हो। वे मौजूदा अदालतों की संख्या बढ़ाने के लिए कब आंदोलन कर रहे हैं? जिस से जनता को त्वरित न्याय मिल सके।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों की मुझे प्रतीक्षा रहती है,आप अपना अमूल्य समय मेरे लिए निकालते हैं। इसके लिए कृतज्ञता एवं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

ब्लॉग आर्काइव

Twitter